Tag Archives: hindi shayari

उनकी अदालत

अजीब है हैरानी है हमें
इन्साफ भी बाखूभ है उनका
अदालत भी उनकी
गवाही भी उनकी
वकालत में उनसे ना मुकाबला रहा
कोई
शिकवा नहीं अगर मैं मुजरिम ही रहा

a small story of a girl

सुनेगा कौन सुन ने वाले ही बिक चुके हैँ
गवाही भरेगा कौन अच्छे अच्छे पानी भर चुके हैँ
सहूलियत है उनको
आराम है उनको
इस मुजरिम की बदनामी का काम है उनको
लाल से दिल की वाह काली स्याही
अब गिला भी क्या
गर मैं मुजरिम ही रहा

inspirational videos